कुसुम योजना मुफ्त सोलर वॉटर पम्प वितरण (KUSUM) आवेदन ऑनलाइन

कुसुम योजना सोलर पम्प सब्सिडी योजना, कुसुम योजना मुफ्त सोलर वॉटर पम्प वितरण, KUSUM Yojana 2018, कुसुम योजना आवेदन ऑनलाइन – प्रिय पाठको आज हम जिस योजना के बारे मे आपको बताने जा रहे है वो योजना किसानो के लिए बनी हुई है । इस योजना का लाभ पूर्ण रूप से सिर्फ हमारे देश के किसान ही ले सकते है । यह एक सरकारी योजना है । इस योजना को अभी – अभी केंद्र सरकार ने देश के किसानो के लिए शुरू किया है । इस योजना का नाम है “कुसुम योजना”।  हम इस आर्टिक्ल के जरिये आपको बताएँगे की आप कैसे इस योजना के लिए अप्लाई कर सकते है , योजना के लिए पात्रता और कुछ महत्वपूर्ण बाते । अधिक जानने के लिए इस आर्टिक्ल को ध्यान से पढ़िये.

जैसा की हम जानते है की किसान को खेती करने के लिए पानी की सबसे ज्यादा जरूरत होती है । इसके लिए सरकार समय समय पर किसानो के खेत मे पानी के पंप लगवाती है । यह पम्प बिजली से चलते है । अब पहले जो पानी के पंप बिजली से चलते है अब वो सौर ऊर्जा पम्प मे बदल दिये जाएंगे । इस योजना से देश भर के सभी किसानो को बहुत ही लाभ पंहुचेगा ।

कुसुम योजना

अगर आप भी इस कुसुम योजना का लाभ लेना चाहते है तो आपको पहले इस योजना की पात्रता और नियमो के बारे मे जनाना होगा । ताकि आप भी इस योजाना के लिए समय से अप्लाई  करके इस सौर ऊर्जा पम्प के अधिकारी बन जाये । कुसुम योजना , इस योजना का पूरा नाम किसान ऊर्जा सुरक्षा व उत्थान महाअभियान है । इस योजना के अंतर्गत देश भर के बिजली से चलाने वाले पम्पो को अब सौर ऊर्जा के जरिये चलाया जाएगा । इसमे लगभग 3 करोड़ पम्प चलाये जाएंगे. कुसुम योजना केंद्र सरकार की एक महत्वकांक्षी योजना है, जिसमें कि किसानों को सोलर पंप वितरित किए जाएंगे. इस योजना से किसान अपने डीजल पंप को बदलकर सोलर पंप लगा सकते हैं, जिससे कि बिजली की खपत 0% हो जाएगी. सूर्य ऊर्जा का एक बहुत बड़ा स्त्रोत है.

KUSUM Yojana

Kusum Yojana is all about Solar water pumps. Under this whole scheme solar pumps will be distributed by the central government that is Modi Government. The main criteria of this scheme is to exchange the old diesel water pumps with solar after pumps. Main importance of this scheme, is this will decrease the diesel cost of farmer. It also make no pollution, so our environment will be clean. The other main factor is Energy will be saved with this scheme. So this is one of the most useful scheme. Farmers need to do Kusum Yojana Registration online.

अगर भारत की बात ना की जाए तो अन्य देशों में सौर ऊर्जा का बहुत ही बड़े पैमाने पर उपयोग हो रहा है. इसी को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार कुसुम योजना को शुरू किया है. दोस्तों जैसे जैसे आधुनिक युग आगे बढ़ रहा है, सोलर एनर्जी का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा सुरक्षित एवं लाभप्रद है. आज हम आपको इसी तरह सोलर पावर से जुड़ी एक नई योजना के बारे में बताने जा रहे हैं. इस योजना का नाम है कुसुम योजना. इस योजना का मूल उद्देश्य किसानों को सौर ऊर्जा के बारे में जागृत करना है. मुख्यता इस योजना में होगा यह कि सरकार किसानों के खेतों एवं खेत की मेड़ो पर सौर ऊर्जा चलने वाले पैनल लगाकर वहां से बिजली का उत्पादन करेगी. इस बिजली का उपयोग किसानों के खेतों की सिंचाई के लिए तथा उनकी रोज की जरूरतों के लिए उपयोग किया जाएगा.

KUSUM Yojana

बची हुई बिजली को किसान ग्रिड में देकर उसका अच्छा खासा दाम भी कमा सकते हैं. इससे किसानों को एक नई आय का साधन भी प्राप्त होगा. यह कुसुम योजना किसानों के लिए आने वाले समय में किसी वरदान से कम साबित नहीं होगी. अगर आप भी कुसुम योजना के अंतर्गत अपने खेतों में मुफ्त में सोलर पैनल योजना के अन्तरगर्त लगवाने के इच्छुक हैं तो, सरकार की अधिकारी वेबसाइट पर जाकर इसके बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

अच्छी बात यह है की इस योजना की पूरी लागत मे से किसानो को सिर्फ 10 फीसदी तक ही लागत देनी होगी । वाकी सारी  लागत जो इस पम्प को लगाने मे खर्च होगी , सरकार के द्वारा दी जाएगी । केंद्रीय सरकार ने इस योजना को कुल 1.40 लाख करोड़ रुपए दिये है । यह एक बहुत ही अच्छी योजना  है जिसका लाभ हर किसान को उठाना चाहिए ।  इस योजना के जरिये बहुत बिजली की और डीजल ,पेट्रोल की बचत होगी.

कुसुम योजना के फायदे

इस योजना का लाभ सिर्फ देश भर के किसान जो पात्र होंगे वही ले सकते है । इस योजना के जरिये किसानो को बहुत ही कम खर्च मे अपने खेत मे सौर ऊर्जा पंप सरकार की तरफ से लगवा दिये जाएंगे । अब बिजली , पेट्रोल, डीजल का खर्च भी बचेगा। किसानो को  पूरे खर्च का सिर्फ 10 फीसदी ही देना होगा।  वाकई 90% खर्च सरकार की तरफ से होगा ।

कुसुम योजना 2018 -KUSUM Yojana
कुसुम योजना 2018 -KUSUM Yojana

कुसुम योजना में मुख्त किसानो के आय दोगुना करनेन का लक्ष्य है। किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं ऊथन महाभियान में कुसुम योजना के लिए 48000 करोड़ रूपाय सरकार ने मंजूर किए है। इस योजना में सिंचाई वावस्था को बिजली से जोड़ने और सस्ती बिजली उपलब्ध करवाने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना में योगी सरकार 7.5 लाख सोलर पम्प के साथ इस योजना को शुरू करेगी।

कुसुम योजना के लाभ

कुसुम योजना एक सौर कृषि योजना है । जिसके लिए भारत सरकार ने किसानो से ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए है । और बहुत से लोग इस योजना के लिए आवेदन जमा करवा रहे है । अगर अपने अभी तक कुसुम योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा नहीं किया है तो आप इस योजना के लिए जल्द से जल्द आवेदन कर सकते है । यह 2018 की नई योजना है जिसे भारत के बित्त मंत्री श्री अरुण जेटली नि शुरू किया है.

इस योजना के तहत सरकार किसानो के लिए ऊर्जा को सुरक्षित कर रही है । इसके आवेदन के  बाद किसान अपनी जमीन मे सौर ऊर्जा यंत्र की स्थापना कर सकते है । इस Kusum योजना का 60% खर्चा भारत की केंद्रीय सरकार ने द्वारा दिया जा रहा है । यह एक बहुत ही  अच्छी योजना है जोकि किसानो के हित मे शुरू की गई है । तो इस योजना का भरपूर लाभ उठाये और अगर किसी को इस योजना के बारे मे पता नहीं है तो जरूर बताए ।

कुसुम योजना आवेदन ऑनलाइन

तो अगर आपको लगता है की इस योजना के लिए आप भी  पात्र है और आपको भी इस योजना का लाभ लेना चाहिए तो आप भी अप्लाई केआर सकते है । कुसुम योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको पहले आफिसियल वैबसाइट से एप्लिकेशन फोरम डाउन्लोड करना होगा. आवेदन करे :- mnre.gov.in ऑनलाइन यहाँ से.

देखे:- उत्तर प्रदेश सोलर पंप वितरण योजना

इस कुसुम योजना आवेदन फॉर्म को भरिए और जरूरी दस्तावेज़ लगा कर भेज दीजिये। अगर आपका एप्लिकेशन फॉर्म ले लिया जाता है तो आप भी इस योजना का लाभ ले सकते है । अधिक जानने के लिए हमारे साथ बने रहिए । हम समय समय पर आपको कुसुम योजना से जुड़ी हर प्रकार की जानकारी देते रहेंगे । आप केंद्र सरकार की योजनाएं जो के आने वाली है, के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमारे मुख्य पेज पर जाए।

यहाँ से Share करे ...
Share on Facebook
Facebook
4Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on Whatsapp
Whatsapp

54 comments

  1. इस योजना का लाभ लेने के लिए किस से मिले ओर कोन जानकारी देगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *