{हिंदी} मप मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना 2018 लोन हेतु▷आवेदन

हिंदी में जाने:- मप मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना 2018 लोन हेतु ▷ आवेदन फार्म | Mukhyamantri Krishak Udhyami Yojana | मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना 2018-19 आवेदन प्रक्रिया।

मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना

नमस्कार. मध्य प्रदेश के जितने भी श्वेता हमारे साथ जुड़े हैं हम उनका हार्दिक अभिनंदन करते हैं. प्रिय मध्य प्रदेश वासियों मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान ने एक नई योजना किसानों के लिए शुरू की है. इस योजना का नाम है मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना. दोस्तों यह योजना मध्यप्रदेश में रह रहे किसानों के लिए शुरू की गई है. इस योजना में किसान को अपना व्यवसाय सूक्ष्म एवं लघु उद्योग शुरू करने के लिए 50 हज़ार रूपए से लेकर दो करोड़ तक की राशि ऋण/ लोन के रूप में दी जाएगी. इस योजना में जो भी किसान नया उद्योग जिसमें की कोई भी लघु उद्योग या कोई भी सूक्ष्म उद्योग आ सकता है, को शुरू कर सकते हैं. तो चलिए जानते हैं विस्तार में मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना 2018-19 के बारे में.

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना

आप सभी को पता है कि 2018 में मध्यप्रदेश में विधानसभा के चुनाव होने जा रहे हैं. इनको देखते हुए मध्यप्रदेश सरकार हर क्षेत्र में नई योजनाओं के लिए बजट में प्रावधान रख रही है. कुछ दिन पहले ही सरकार ने 4 नई योजनाओं का शुभारंभ किया. 2017 में नवंबर माह में शुरू की गई है चारों योजना किसानों को फायदा पहुंचा रही हैं. इन 4 योजनाओं के नाम निम्नलिखित दिए गए हैं

मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना

मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना

मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना

आज हम जिस मुख्य योजना के बारे में आपको बताने आए हैं वह “मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना”. इस योजना में किसान का पुत्र या पुत्री कोई भी नया व्यवसाय/उद्योग की स्थापना के लिए सरकार से इस परियोजना के अंतर्गत लाभ उठा सकता है. इस योजना के लिए लागत 10 लाख रुपए से दो करोड़ तक की है. इस योजना में निम्नलिखित उद्योग/उद्यमों को शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी.

किन-किन लघु उद्योगों के लिए लोन मिलेगा?

कोल्ड स्टोर खोलने हेतु

मिल्क प्रोसेसिंग

टिश्यू कल्चर

डेयरी खोलने हेतु

गौशाला खोलने हेतु

आटा मिल

बिक्री के लिए

मसाला निर्माण उद्योग

बीज ग्रेडिंग एवं शर्टिंग

मछली पालन के लिए अनुदान

सब्जी डिहाइड्रेशन एग्रो प्रोसेसिंग

फल{फ्रूट} प्रोसेसिंग

चावल मिल लगाने हेतु

तेल मिल लगाने हेतु

इस योजना के लिए सरकार ने 12 विभागों को योजना से जुड़ने के लिए कहा है. यह 12 विभाग निम्नलिखित रुप से दिए गए हैं

अनुसूचित जाति कल्याण विभाग अनुसूचित जनजाति है विभाग

अन्य पिछड़ा वर्ग विभाग एवं अल्पसंख्यक

किसान कल्याण तथा कृषि विकास

मत्स्य पालन विभाग

पशुपालन विभाग

कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग

नगरीय विकास एवं आवास

लघु एवं सूक्ष्म उद्योग विभाग

घुमक्कड़ अर्द्ध घुमक्कड़

विमुक्त

आधुनिक की तथा खाद्य प्रसंस्करण विभाग

मुख्यमंत्री किसान उद्यमी योजना की पात्रता

इस योजना के लिए आवेदन कर्ता की आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच में होनी चाहिए

आवेदनकर्ता की शैक्षणिक योग्यता कम से कम 10 वीं पास होना आवश्यक है

सालाना आय पर किसी भी प्रकार का कोई बंधन नहीं है. आवेदनकर्ता परिवार पहले से किसी उद्योग में कार्यरत नहीं होना चाहिए.

आवेदनकर्ता आयकरदाता नहीं होना चाहिए।

किसान के पुत्र या पुत्री जो भी आवेदन कर रहे हैं उनके पास अपनी जमीन, या उनके माता-पिता की निजी जमीन का होना आवश्यक है.

मध्यप्रदेश कृषक उद्यमी योजना के लिए सहायता राशि

सामान्य वर्ग :- इस योजना में सामान्य वर्ग के लिए सरकार ने अधिकतम 1200000 रुपए तक के अनुदान का प्रावधान रखा है. इस योजना के अंतर्गत सामान्य वर्ग के लिए अधिकतम 15% तक का पूंजी लागत प्रदान की जाएगी

BPL वर्ग– BPL वर्ग के लिए सरकार ने लागत का 20% हिस्सा जो की अधिकतम 1800000 रूपय तक सरकार द्वारा देय होगा.

योजना में ब्याज अनुदान

इस योजना में दी गई राशि पर 5% प्रतिवर्ष की दर से तथा महिला उद्यमी के लिए 6% प्रतिवर्ष की दर से अधिकतम 7 वर्षों तक व ब्याज अनुदान दिया जाएगा.

अनुदान की समय सीमा 7 वर्ष तक रखी गई है

योजना हेतु प्रशिक्षण

इस योजना में प्रशिक्षण हेतु आवेदन कर्ता उद्यमियों को योजना की पूरी जानकारी बनाकर वित्त विभाग की अनुमति से आपके उद्योग से जुड़े विभाग द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा.

मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना हेतु आवेदन

आवेदन करने के लिए आवेदनकर्ता कृषक को आधिकारिक वेबसाइट https://mpmsme.gov.in/website/home पर लॉग इन करना होगा.

यहां पर आते ही आपको विभिन्न योजनाओं की सूची सामने दिखाई देगी जिसमें से आपको ” मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना” पर क्लिक करना होगा.

क्लिक करते ही आवेदन फार्म ऑनलाइन उपलब्ध हो जाएगा तथा आपको उसे भरकर, जमा करना होगा.

मध्यप्रदेश कृषक उद्यमी योजना हेल्पलाइन /टोल फ्री नंबर:- न/अ

मध्यप्रदेश वासियों मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना सरकार द्वारा किसानों को संपूर्ण रूप से अपने पैरों पर खड़ा करने के लिए शुरू की गई है. इस योजना के अंतर्गत किसी भी किसान के पास अगर ऊपर दिए गए विभिन्न छोटे लघु एवं सूक्ष्म उद्योगों से जुड़ा हुनर है तो अपना छोटा उद्योग शुरू कर सकता है. इसके लिए उसे लागत की चिंता किए बिना इस योजना के अंतर्गत लाभ मिलेगा. 7 सालों तक सरकार द्वारा इस उद्योग के लिए बहुत ही कम ब्याज दरों पर लोन उपलब्ध हो रहा है. इसलिए हमारी किसान भाइयों से विनती है कि मध्य प्रदेश सरकार की कृषक उद्यमी योजना का बढ़-चढ़कर लाभ उठाएं.

इस पोस्ट को शेयर करें यहां से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *