{1 लाख रु} मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश ऑनलाइन फार्म

मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश ऑनलाइन फार्म | Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana | एच.पी. मेधा प्रोत्साहन योजना 1 लाख रु पात्रता।

हिमाचल प्रदेश सरकार की कल हुई कैबिनेट मीटिंग संपन्न हो गई है. मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में शुरू हुई इस बैठक में कई मुद्दों पर, विचार विमर्श हुआ. इसके साथ ही केबिनेट मीटिंग में कई प्रकार की योजनाएं, एक नौकरियों पर कैबिनेट ने मुहर लगाई. कुछ अहम फैसले जो कैबिनेट मीटिंग में लिए गए वह हम आपको नीचे बताने जा रहे हैं.

  • पीजीटी के लगभग 230 पदों को भरने पर मंजूरी दी गई है.
  • हिमाचल के 19 स्कूलों में साइंस स्ट्रीम को शुरू किया गया.
  • मंडी में स्थित घाटा में पीएचसी को शुरू करने का निर्णय लिया गया.
  • जिला मंडी गुना एवं सिरमौर के 8 प्राइमरी स्कूलों को, अपग्रेड किया जाएगा.
  • निजी क्षेत्रों में काम कर रहे कर्मचारियों को कौशल विकास भत्ता दिया जाएगा.
  • 15000 से कम वेतन, वाले कर्मचारियों को 2 साल तक कौशल विकास भत्ता ₹1000 मासिक.
  • प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में लगे हुए छात्रों को मेधा प्रोत्साहन योजना.
  • गांव में कोई भी प्राइवेट हॉस्पिटल खोलने पर 25% तक सब्सिडी.

मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश | Himachal Medha Protsahan Yojana

आज हम आपको हिमाचल प्रदेश कैबिनेट मीटिंग में लिए गए एक निर्णय के बारे में बताने जा रहे हैं. यह एक योजना है जो मेधावी छात्रों के लिए शुरू की गई है. इस योजना का नाम है मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश. इस योजना को कैबिनेट मीटिंग में पास कर दिया गया है. इस योजना के अंतर्गत जो छात्र गरीबी रेखा के नीचे हैं और सरकारी स्कूल में पढ़ रहे हैं, उन मेधावी छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं (Competitive Exam) की कोचिंग हेतु 1 लाख रु की सहायता राशि दी जाएगी. इस योजना के अंतर्गत केवल, उन मेधावी छात्रों को हिला मिलेगा जिनकी सालाना आय ढाई लाख रुपए से कम होगी. हिमाचल प्रदेश की राज्य सरकार ने इस योजना के लिए 5 करोड़ रूपए का बजट पास किया है.

मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल

योजना के मुख्य बिंदु

हिमाचल मंत्रिमंडल ने मेधा प्रोत्साहन योजना को शुरू करने की मंजूरी प्रदान की.
हिमाचल प्रदेश संघ लोक सेवा आयोग/ कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग के लिए, आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी.
इसके साथ ही सीएलएटी, एनआईटी, आईआईटी जेईई, एफएमसी एवं एनडीए की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए भी मेरा प्रोत्साहन योजना लाभ मिलेगा।

मेधा प्रोत्साहन योजना का लाभ

इस योजना का लाभ केवल मेधावी छात्र जो गरीबी रेखा के नीचे हैं उन्हीं को मिलेगा.

सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों को भी योजना का लाभ दिया जाएगा.

प्राइवेट स्कूल के छात्रों को योजना का लाभ नहीं मिलेगा.

इस योजना में ₹100000 की राशि कोचिंग के लिए दी जाएगी.

पात्रता

आवेदन कर्ता छात्र हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूल का विद्यार्थी होना चाहिए.
अगर छात्र मेधावी है, अच्छे अंको से पास होता है, तभी उसे इस योजना का लाभ मिलेगा.
गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले छात्रों को इस योजना का लाभ मिलेगा.
परिवार की आय ₹300000 से कम होने पर ही लाभ दिया जाएगा.

जरूरी कागजात एवं दस्तावेज

स्कूल का प्रमाण पत्र

आधार कार्ड

पारिवारिक आय सर्टिफिकेट

दसवीं/ 12वीं कक्षा की मार्कशीट

बीपीएल कार्ड

Related – हिमाचल प्रदेश की सरकारी योजनाएँ

मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल आवेदन प्रक्रिया

मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश के लिए, अभी तक आवेदन प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है. इस योजना को पिछले कल हिमाचल प्रदेश की कैबिनेट मीटिंग में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा शुरू किया गया है. हम यही आशा करते हैं कि इस योजना की शुरू होने से, मेधावी छात्र जोकि धन के अभाव के कारण अपनी पढ़ाई को पूरा नहीं कर पाते, उन्हें लाभ मिलेगा. तथा वह छात्र जोकि उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें इस योजना का सबसे अधिक लाभ मिलेगा. अगर आप भी इस योजना के पात्रता पर खरा उतरते हैं, तो जल्द से जल्द आवेदन करके इस योजना का लाभ लें.

इस पोस्ट को शेयर करें यहां से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *