गौशाला कैसे खोले राजस्थान (अनुदान योजना) आवेदन |रजिस्ट्रेशन|नियम

गौशाला कैसे खोले राजस्थान, गौशाला खोलने हेतु अनुदान योजना, गौशाला खोलने के लिए आवेदन, गौशाला खोलने के लिए रजिस्ट्रेशन, राजस्थान सरकार गौशाला खोलने के नियम

भारत विश्व में एक ऐसा देश है, जहां पर किसानों की एक बहुत ही बड़ी तादाद है. भारत में इस समय 70% लोग किसान हैं. जैसे की हम अक्सर किताबों पढ़ते हैं भारत का दिल गांव में बसता है. गांव में रहने वाले लोग जीवन यापन के लिए मुख्यता कृषि एवं पशुपालन पर ही निर्भर करते हैं. इसके साथ ही वह कई प्रकार के व्यवसाय एवं से भी जुड़े हुए हैं. इनमें मुख्यता है मधुमक्खी पालन, बकरी पालन, सुअर पालन इत्यादि कई प्रकार के व्यवसाय हैं, जिनसे की उन्हें आमदनी होती है.

गौशाला कैसे खोले?

पशुपालन भारत में बहुत ही बड़ा व्यवसाय है. व्यवसाय के साथ-साथ यह किसानों की मुख्य आवश्यकता भी है. आज हम आपके साथ पशुओं के लिए पशुशाला या गौशाला कैसे खोलें इसके बारे में कुछ जानकारी सांझी करना चाहते हैं. सरकार किसानों को बीज से लेकर, कृषि उपकरणों तक खरीद के लिए अनुदान देती है. लेकिन आप लोगों में से कम को ही पता होगा कि सरकार गौशाला बनाने के लिए भी अनुदान देती है. इस योजना का लाभ राजस्थान और उत्तर प्रदेश के किसान उठा रहे हैं. इसीलिए आज हम आपको गौशाला कैसे खोले राजस्थान के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे। गौशाला मुख्यता वह स्थान होता है जहां पर पशुओं को बांधा जाता है. इसको बनाने के लिए मुख्यता लकड़ी सीमेंट आदि का उपयोग किया जाता है. पुराने समय में गौशाला का निर्माण मिट्टी इत्यादि से किया जाता था.

गौशाला कैसे खोले राजस्थान

गौशाला खोलने हेतु अनुदान योजना

आज के समय में गौशाला निर्माण के लिए सरकारी अनुदान कुछ फार्म भरकर आसानी से लिया जा सकता है. इसके लिए सरकार द्वारा कुछ नियम एवं शर्तें दी गई हैं जिनका पालन करके किसान गौशाला अनुदान योजना लाभ ले सकता है. गौशाला में मुख्यता दो भाग होते हैं. जिनके बारे में नीचे बताया गया है।

गौशाला का निचला भाग – यह वह भाग होता है जहां पर पशुओं को बांधा जाता है. इसके लिए पहले यह देखा जाता है कि आपके पास कितने पशु हैं. उसके साथ ही यह भी लिखा जाता है कि आपके पास पशुशाला बनाने के लिए अपनी जमीन है या नहीं।

गौशाला का ऊपरी भाग – यह भाग दूसरी मंजिल की तरह बनाया जाता है. इसमें मुख्यता पशुओं के द्वारा गाया जाने वाला घास, भूसा, हरे पत्ते इत्यादि रखे जाते हैं. इस भाग को स्टोर की तरह रखा जाता है, जिससे कि बारिश या खराब मौसम में यहां से पशुओं को आसानी से खिलाया जा सके.

Goshala Application procedure

गौशाला कैसे खोले राजस्थान सरकार के नियम एवं दिशा-निर्देश

आवेदन के लिए आपको संस्थान का संख्या अधिनियम, १९५८ मैं रजिस्ट्रेशन का प्रमाण पत्र की अटेस्टेड कॉपी साथ में जोड़ने होगी।
रजिस्ट्रेशन करने के पश्चात आपको 3 माह के अंदर अंदर गौशाला खोलने के लिए आवेदन करना होगा।
इस योजना के अंतर्गत कम से कम 50 गोवंश होना अति आवश्यक है.
जिस भूमि पर गौशाला बनेगी उसके भूमि के कागजात, जमाबंदी/ खसरा गिरदावरी आवेदनकर्ता के नाम पर होना आवश्यक है.
आवेदनकर्ता को सरकारी संस्थाओं द्वारा कम से कम 1 वर्ष का ऑडिट रिपोर्ट आवेदन फार्म के साथ जोड़कर लगाना होगा। इसके साथ ही नए रजिस्टर की गई संस्था द्वारा आय एवं व्यय का डिटेल भी देनी होगी।
जिस स्थान पर गौशाला का निर्माण किया जाना है, उसमें मूलभूत सुविधाएं जैसे कि पशुशाला, चारा भंडारण, गौशाला को चारदीवारी, पशुओं के पीने के पानी की सुविधा को एक नक्शे के रूप में प्रस्तुत करना अति आवश्यक है.
प्रस्तुत नक्शा संस्था के प्रधान द्वारा जांचा-परखा एवं हस्ताक्षर के साथ सील सहित आवेदन फार्म के साथ जोड़कर प्रस्तुत करना होगा।

राजस्थान गौशाला खोलने के लिए रजिस्ट्रेशन/ आवेदन ऑनलाइन

  • इस योजना मैं गौशाला खोलने के लिए आवेदन आप ऑनलाइन कर सकते हैं.
  • राजस्थान सरकार द्वारा गौशाला अनुदान योजना के अंतर्गत आप इनकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • यहां पर आपको गौशाला खोलने हेतु आवेदन फार्म/ एप्लीकेशन फॉर्म मिलेगा उसको डाउनलोड।
  • आपकी सुविधा के लिए हमने यह आवेदन फार्म संख्या 1 को यहां पर उपलब्ध करवा दिया है.
Gaushala Application Form
  • आवेदन फार्म को भरकर इसमें पूछी गई जानकारी को चरणबद्ध तरीके से भरें। बाद में इसे ऑनलाइन सबमिट करके अपनी प्रक्रिया को पूरा करें।
  • इसको करने के पश्चात अब आप घर बैठे ही गौशाला खोलने के लिए आवेदन कर चुके हैं.
इस पोस्ट को शेयर करें यहां से

2 comments

  1. सर मैंने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है और मुझे रजिस्ट्रेशन नंबर भी मिल गया है अब में इसका उपयोग कैसे करूँ मुझे इसके बारेमें जानकारी चाहिए मेरे मोबाइल नंबर पर जानकारी देने की कृपा करें सधन्यवाद।। mobile number 6350373925

  2. Sir me gaushala kholna chahta hoo pr mere pas krishi bhumi nhi h . Lekin cows ki sari jankari h . To me gaushala kese khol sakta hoo.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *